Hastmaithun Ke Nuksan हस्तमैथुन की लत से होने वाले 10 बड़े नुकसान

Hastmaithun Ke Nuksan
Hastmaithun Ke Nuksan

क्या होता है अगर पुरुष हस्तमैथुन करते रहे

Hastmaithun Ke Nuksan – हस्तमैथुन, या आत्म-सुखदायक, यौन सुख के लिए आपके शरीर के कुछ हिस्सों को छूना और रगड़ना है, जैसे कि लिंग, अंडकोश, भगशेफ, योनी, स्तन और गुदा। Hastmaithun Ke Nuksan में एक व्यक्ति अपने शरीर की खोज कर सकता है, लेकिन यह दो लोगों (आपसी हस्तमैथुन) के बीच भी हो सकता है।

हस्तमैथुन के फायदे – Benefits of masturbation in Hindi

हस्तमैथुन एक स्वस्थ यौन गतिविधि है। इसके, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए कई लाभ हैं। अध्ययन के मुताबिक हस्तमैथुन के सीमित लाभ हैं। लेकिन अध्ययन से इस बात का पता चलता है कि Hastmaithun Ke Nuksan के माध्यम से यौन उत्तेजना को बढ़ाया जा सकता है।

  • मानसिक तनाव से राहत दिलाने में
  • भरपूर नींद दिलाने में
  • मूड़ को बेहतर बनाने में
  • आराम में
  • ख़ुशी महसूस करवाने में
  • ऐंठन से राहत दिलाने में
  • यौन तनाव को दूर करने में
  • बेहतर सेक्स के लिए
  • अपनी इच्छाओं और जरूरतों को बेहतर ढंग से समझें में
  • शोध के मुताबिक नियमित रूप से वीर्यपात (ईजैक्यूलैशन) से कैंसर के ख़तरे की संभावना कम होती है। हांलाकि डॉक्टर इस बात को लेकर निश्चित नहीं हैं। 2015 में एक अध्ययन किया गया। इस अध्ययन में ये देखा गया कि जिन परूषों में कैंसर का ख़तरा था। इस ख़तरे को लगभग 20 प्रतिशत तक कम पाया गया, जो व्यक्ति एक महीने में कम से कम 21 बार हस्तमैथुन करते थे।

जोड़े (कपल्स) भी अपनी इच्छाओं का पता लगाने के लिए Hastmaithun Ke Nuksan कर सकते हैं। इससे वो  गर्भावस्था से भी बच जाएंगी। हैस्तमैथुन आपको यौन संक्रमण से बचाने में भी मदद करता है।

हस्तमैथुन के नुकसान – Side effect of masturbation in Hindi

हस्तमैथुन किसी भी तरह से हानिकारक नहीं है। हालांकि कुछ लोग Hastmaithun Ke Nuksan को ग़लत मानते हैं। इसके अलावा कुछ लोगों में ये भी धारणा है कि लंबे समय से हस्तमैथुन करने से कुछ समस्या हो सकती है।

Hastmaithun Ke Nuksan के प्रति ग़लत अवधारणा

सांस्कृतिक, आध्यात्मिक या धार्मिक विश्वासों के आधार पर कुछ लोग Hastmaithun Ke Nuksan को ग़लत मानते हैं। हस्तमैथुन न तो गलत है और न ही अनैतिक है। लेकिन आज भी इसके प्रति कुछ लोगों की धारणा गलत और खराब बनी हुई है। यदि आप हस्तेमैथुन को गलत मानते हैं, तो अपने भरोसेमंद दोस्त से इसके बारे में बात करें और अपनी परेशानियों को उससे साझा करें। इसके अलावा आप यौन स्वास्थ्य विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं।

हस्तमैथुन की लत पड़ना

कुछ लोग हस्तमैथुन करने के आदी हो जाते हैं। यदि आप Hastmaithun Ke Nuksan के लिए बहुत अधिक समय देते हैं, तो आपका दैनिक जीवन इससे प्रभावित हो सकता है। जैसे –

  • काम या दैनिक गतिविधियों को छोड़ देना
  • काम न करना या स्कूल न जाना
  • दोस्तों या परिवार के साथ समय न बिताना
  • महत्वपूर्ण सामाजिक कार्यक्रमों शामिल न होना

Hastmaithun Ke Nuksan की लत पड़ने से आपके रिश्ते और दैनिक जीवन में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। बहुत अधिक हस्तमैथुन करना आपके काम या पढ़ाई में भी बाधा डाल सकता है, जिससे आपके तरक्क़ी में रूकावट आ सकती है। इससे अलावा इससे दोस्ती में भी खटास आ सकती है क्योंकि आप अपने दोस्त के साथ ज्यादा समय व्यतीत नहीं कर पाओगे।

हस्तमैथुन के नुकसान Hastmaithun Karne Se Hone Wale 10 Nuksan

हस्तमैथुन के बारे में कई अफवाहे हमारे समाज में फैली हुई है. Hastmaithun Ke Nuksan के बारे में कम जानकारी होने के कारण और इस बारे में किसी दुसरे व्यक्ति से बात न करने के कारण लोग इस लत से कभी बाहर नहीं निकल पाते.

मैं यहाँ आपको हस्तमैथुन के वो नुकसान बता रहा हूँ जो लोग हस्तमैथुन के कारण (hatmaithun ke kaaran) सामना करते है.

शरीर का कमजोर हो जाना (Sharir Ka Kamjor Ho Jana)

इस दुनिया में सभी लोग इसलिए मेहनत करने में लगे हुए है ताकि उन्हें एक बेटर लाइफ मिल सके. वे अच्छा खाना खा सके, अच्छी लाइफ बिता सके. पर हस्तमैथुन करने से आप खुद की लाइफ को better बनाने के बजाये और ज्यादा ख़राब बना देते हो. हस्तमैथुन (masturbation) करने से कभी भी आपकी सेहत अच्छी नहीं बन सकती.

यह आपके Body में कमजोरी लाता है. आपने जरुर नोट किया होगा जब आप Hastmaithun Ke Nuksan कर लेते हो उसके बाद आपके अंदर की शक्ति कम हो जाती है. आपको ऐसा लगता होगा जैसे सारी ताकत खत्म हो गई हो और उसे पाने के लिए आप फिर से अपने लिए कुछ खाने के लिए ढूंढने लग जाते हो.

यह बात आप समझ लो की अगर आपको अच्छी सेहत चाहिए तो इस लत से किनारा करना ही होगा वरना एक समय ऐसा भी आएगा. जब इस लत के कारण आप अपना अच्छा स्वास्थ्य भी खो दोगे और आपके अंदर कमजोरी पैदा होने लगेगी. जिसका नुकसान होगा की आपकी सेहत तो जाएगी ही साथ में आपके रिश्तो पर भी असर होगा.

खुद के प्रति ग्लानी होना (Khud Ke Prti Glani Hona)

हम जब भी हस्तमैथुन करते है Hastmaithun Ke Nuksan (Masturbation) करने के बाद हम खुद से घृणा करने लग जाते है. हमें खुद के प्रति मन में ग्लानी होती है. जो की हस्तमैथुन से होने वाला सबसे बड़ा नुकसान है.

हम कोई भी काम इसलिए करते है ताकि हमें उस काम को करने के बाद ख़ुशी मिले. Hastmaithun Ke Nuksan करने के बाद ठीक इसका उल्टा होता है तो फिर हस्तमैथुन करने का फायदा क्या. अगर यह हमें ख़ुशी न दे तो इससे दूर रहना ही सही है. 

अगर हम अंदर से खुश रहेंगे और हमारे अंदर हमारे लिए Self – Respect होगी इससे हम कोई भी परेशानी या काम को बहुत ही आसानी से कर सकते है. हमारे अंदर की शक्ति ही हमें मजबूत बनाती है. जिस इंसान के अंदर जितनी अच्छी आदते होंगी वह इन्सान उतना ही मजबूत होगा.

जिसके अंदर बुरी आदते होंगी वह उतना ही कमजोर होगा. इसलिए Hastmaithun Ke Nuksan करने से अगर आपको ग्लानी होती है तो इसे छोड़ दे. अगर आप खुद के नजरो में ही गिर जाओगे तो पूरी दुनिया से आप नजर कभी नहीं मिला सकते.

लिंग में सूजन का हो जाना (Penis Me Sujan Ka Ho Jana)

कई लोग ऐसे होते है जो जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन (Masturbation)करने लगते है. जिस कारण उनका वीर्य (viry) से पहले निकलने वाला तरल पानी उनके लिंग (ling) की मासपेशियों में चला जाता है.

इसका Result यह होता है कि व्यक्ति के लिंग में सूजन आने लगती है और तब तक रहती है जब तक वह वापस खून (blood) में न मिल जाये.

ऐसा बार – बार होने पर यह गंभीर बन जाता है और यह सूजन आसानी से जाती नहीं है. इसलिए इससे दूर रहने के लिए Hastmaithun Ke Nuksan की लत से ही दूर रहे. अगर यह लत ही नहीं होगी तो ऐसी कोई भी Problem आपके पास भी नही रहेगी.

लिंग की मांसपेशियों का टूट जाना (Penis Ki Manspeshiyon Ka Tut Jana)

कई लोग हस्तमैथुन (masturbation) करते समय अपने लिंग (penic) को बहुत ही मजबूती से जकड़ लेते है और उसे दबाने या मोड़ने लगते है वे सोचते है की ऐसा करने से वीर्य बाहर नहीं निकलेगा.

यह करना सही नहीं है. ऐसा करने से आपको गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है. ऐसा करने से आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं जो की बहुत ही नाजुक होती है.

कई बार ऐसा करने से पायरोनी नाम की बीमारी भी हो जाती है. इस बीमारी का असर यह होता है की व्यक्ति का लिंग टेढ़ा हो जाता है. एक बार अगर यह बीमारी हो जाये तो समझ सकते है की आपको कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

मानसिक तनाव का होना (Mansik Tanav Ka Hona)

आप मानो या न मानो पर हस्तमैथुन आपके अंदर टेंशन पैदा करता है. अगर आप Hastmaithun Ke Nuksan करते है तो आपने जरुर यह ध्यान दिया होगा कि हस्तमैथुन के बाद आप बहुत ही बुरा महसूस करते होंगे.

मास्टरबेशन आपको काफी मानसिक तनाव (mansik tanav) दे सकता है. यह तनाव ऐसा होता है जिसमे आप खुद को ही दोषी मानने लगते है. अपने बारे में आप बुरा सोचते है.

लगातार अगर आप तनाव में रहेंगे तो आप अवसाद का शिकार हो सकते है. मास्टरबेशन करने से कई बार घबराहट भी पैदा होती है. अगर आपका Mind Tension में रहेगा तो आप कोई भी काम सही ढंग से नहीं कर पाओगे. इसलिए अगर टेंशन से दूर रहना है तो हस्तमैथुन को अलविदा कहे.

अवैध संबंधो का बन जाना (Awaidh Sambandho Ka Ban Jana)

आज हमारे समाज में जिस तरह से यौन अपराध बढ़ रहे है इसमें Hastmaithun Ke Nuksan का बहुत बड़ा रोल है. ऐसे अपराध करने वाले लोग हस्तमैथुन के आदी होते है और यौन इच्छाएं अधिक बढ़ने पर वे अपराध करने लग जाते है. व्यक्ति हस्‍तमैथुन करते समय हमेशा ही कल्पनाओ में खोया रहता है.

इससे उस व्यक्ति की Sex के प्रति चाह में निरंतर बढ़ोतरी होती रहती है. अपनी सेक्स की भूख को शांत करने के लिए वह अवैध संपर्कों की ओर चले जाता है. इससे जाने अनजाने वह कई ऐसी भूल कर देता है जो उसे ज़िन्दगी भर पछतावा देते रहता है. आपकी ज़िन्दगी को हस्तमैथुन की लत बर्बाद कर सकती है.

एक बार अगर आपने कोई यौन अपराध कर लिया तो समझ ले आपकी यह ज़िन्दगी तो बर्बाद हो ही गई. इससे बचने का आसान तरीका यही है की जो जड़ है उसे ही हटा दे यानी Hastmaithun Ke Nuksan को अपनी लाइफ से दूर कर दे.

शुक्राणुओ की संख्‍या में कमी होना (Sperm Ki Sankhya Me Kami Hona)

हमारे वीर्य में लाखो की संख्या में शुक्राणु होते है जो हमारे पिता बनने में सहायक होते है. परन्तु जो लोग रोजाना Hastmaithun Ke Nuksan करते है उनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो जाती है.

मास्टरबेशन का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है जब व्यक्ति की शादी हो जाती है तब उसके बाद उसके वीर्य में शुक्राणुओं (Sperm) की कमी के कारण वह पिता बनने से भी वंचित रह सकता है.

अगर आपके अंदर शुक्राणु कम हो गये तो आप Tension में आ जायेंगे और यह तनाव आपकी सेहत खराब कर देगा. इसलिए अपने शादी के बाद अच्छे जीवन के लिए अभी से सोचे और इस लत से दूर रहे.

अपने पार्टनर से झगडा होना (Apne Partner Se Jhagda Ho Jana)

छोटी age में बहुत अधिक हस्तमैथुन (Hastmaithun) कर लेने से शादी के बाद इसका असर दिखने लग जाता है. जब ऐसे लोग संभोग करते है तो उस दौरान उनका स्खलन बहुत ही तेजी से होने लग जाता है.

परिणामस्वरूप इससे उनकी पत्नी उनसे नाराज रहने लग जाती है और रिश्ता ख़राब हो जाता है. ऐसे भी बहुत लोग है जिनका अपने partner के साथ झगड़ा होता रहता है. जिस कारण वे हस्तमैथुन की ओर रूख कर लेते है.

लगातार हस्तमैथुन करने से उनको मास्टरबेशन में ही सुख नजर आने लगता है. जो की उनके बुरे समय की शुरुआत होती है. शादी (shadi) के बाद सिर्फ अपने Married Life पर फोकस करे न की Hastmaithun Ke Nuksan पर.

पाचन तंत्र पर बुरा असर होना (Digestive System Par Bura Asar Hona)

अच्छी सेहत के लिए हमारे पाचन तंत्र का ठीक होना बहुत जरुरी होता है. पाचन तंत्र हमारे शरीर की वह मशीन होती है जो भोजन में से निचोड़ निकालकर हमारे शरीर को देती है. जिससे हमारा शरीर बलवान और स्वस्थ रहता है. अगर पाचन तंत्र ख़राब हो जाए तो हमारी सेहत कमजोर होने लगती है.

Hastmaithun Ke Nuksan करने से हमारे चयापचय (chayapachay) पर बुरा असर पड़ता है. हस्तमैथुन हमारे पाचन तंत्र को प्रभावित कर देता है. जिस कारण हमारा पाचन तंत्र बहुत ही मंद गति से अपना कार्य करता है और खाना सही ढंग से पचने  में काफी समय लगता है.

हस्‍तमैथुन करते वक्त जो पहला गीला द्रव निकलता है उसमे प्रोटीन (protein) होता है. जो सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं.

आप यह जरुर जानते होंगे की Protein हमारे शरीर (body) के लिए कितना अहम है. इसका लगातार स्खलन आपको दुबला (dubla) बना देता है. इसलिए अच्छे paachan Tantra बनाये रखने के लिए Hastmaithun Ke Nuksan से दूरी बनाये.

लिंग में उत्तेजना का बंद हो जाना (Ling Me Uttejana Ka Band Ho Jana)

एक पुरुष के लिए इससे शर्मसार बात क्या हो सकती है की उसके लिंग में उत्तेजना होना ही बंद हो जाए. यह आपको मेंटली डिप्रेस्ड कर सकती है. अधिक मात्रा में हस्तमैथुन (Masturbation) करने से कई बार लिंग के ऊतक में चोट पहुंच जाती है और इससे ये ऊतक नष्ट होने लगते है.

जिससे लिंग में उत्तेजना (Uttejana) आना बंद हो जाती है. कई बार तो इससे व्यक्ति  को उत्तेजना आना हमेशा के लिए बंद हो जाती है.

अगर आपकी उत्तेजना खत्म हो गई तो आपकी मैरिड लाइफ (Merried life) बर्बाद हो सकती है क्योंकि अगर आप अपनी पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाए तो आप दोनों के रिश्ते पर इसका असर पड़ेगा जो आपके Rishtey को खत्म कर देगा. इसलिए अब यह आपको तय करना है की आपको कौन सा रास्ता चुनना है

CONCLUSION आज हमने क्या सिखा

यदि आपको आज के हमारे इस पोस्ट  Hastmaithun Ke Nuksan पढ़ने में कहीं पर भी कोई भी समस्या आई है या फिर आप हमें इस पोस्ट से संबंधित कोई भी सुझाव देना चाहते हैं तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। हम इसका जल्द से जल्द रिप्लाई देने की कोशिश करेंगे।

Leave a Comment